Azamgarh Development Authority
आजमगढ़ विकास प्राधिकरण


About Azamgarh

तमसा के पावन तट पर स्थित यह जनपद आज़मगढ़ अनेक ऋषियों की पावन पुण्य भूमि है। आज़मगढ़ जनपद उत्तर प्रदेश के पूर्वी भाग में स्थित है, जो गंगा और घाघरा के मध्य बसा हुआ है। यह जनपद आदि काल से ही मनीषियों, ऋषियों, चिन्तकों, विद्वानों और स्वतंत्रता सेनानियों की जन्म स्थली रही है। इस जनपद को नवाब आज़मशाह ने बसाया था, इसी कारण इसका नाम आज़मगढ़ पड़ा। 15 नवम्बर 1994 को चौदहवें मण्डल के रूप में "आजमगढ़ मण्डल " का सृजन किया गया।

Azamgarh Development Authority

उत्तर प्रदेश राष्ट्रपति अधिनियम (परिष्कारों सहित पुनः अधिनियमन) अधिनियम 1974 (उत्तर प्रदेश अधिनियम संख्या 30 सन 1974) द्वारा यथा पुनः अधिनियमित और संशोधित उत्तर प्रदेश नगर योजना और विकास अधिनियम 1973 (राष्ट्रपति अधिनियम संख्या 11, सन् 1973) की धारा 4 की उपधारा (7) के अधीन शक्ति का प्रयोग करके राज्यपाल सरकारी अधिसूचना संख्या 1744/आठ-6-08-259 डी0ए0/90, दिनांक 20 जून, 2008 के अधीन इस रूप में घोषित आजमगढ़ विकास क्षेत्र के लिए इस अधिसूचना के गजट में प्रकाशित होने की दिनांक से एक प्राधिकरण का गठन करते हैं जिसे आजमगढ़ विकास प्राधिकरण कहा जायेगा।

Right to Information
Pradhikaran Diwas
Budget & Schemes
General Rules
Photo Gallery

History

The district is named after its headquarters town, Azamgarh, which was founded in 1665 by Azam, son of Vikramajit. Vikramajit a descendant of Gautam Rajputs of Mehnagar in pargana Nizamabad, like some of his predecessors, had embraced the faith of Islam. He had a Muhammadan wife who bore him two sons Azam and Azmat. While Azam gave his name to the town of Azamgarh, and the fort, Azmat constructed the fort and settled the bazar of Azmatgarh in pargana Sagri.


Disclaimer: This web-site contains information and material compiled for reference only. Information on this web site is provided solely for the user's information and due care has been taken to make it accurate. It is provided without guarantee / warranty of any kind, either expressed or implied. Errors and ommissions are excepted (E.&O.E). Users are advised to verify / check any information with the ADA office to obtain any confirmation before acting on the information provided in the Portal.